चुकंदर के फायदे और नुकसान | Chukandar ke fayde | health benefits of Beetroot in hindi

बीट रूट (Chukandar) एक ऐसा मूसला जड़ वाला वनस्पति है जो लगभग पूरे साल पाया जाता है। इसको सलाद, सब्जी और जूस के रुप में सेवन करते हैं। चुकंदर न सिर्फ सौन्दर्य दृष्टि से फायदेमंद है बल्कि ये स्वास्थ्यवर्द्धक भी है। बीट रूट में पाये जाने वाले पौष्टिक तत्वों के कारण सेहत को अनगिनत फायदे मिलते हैं, क्योंकि एक रिचर्स के अनुसार इसमें विटामिन सी , बी -1, बी -2 , बी-6 और बी -12 पाया जाता है। इसकी पत्तियाँ विटामिन – ए का भी बहुत ही अच्छा स्त्रोत है साथ ही चुकंदर आयरन का भी एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है।

चुकंदर के फायदे और नुकसान | Chukandar ke fayde | health benefits of Beetroot in hindi
Chukandar ke fayde

चुकंदर के फायदे और नुकसान | Chukandar ke fayde | health benefits of Beetroot in hindi

चुकंदर परिचय :-

बीट रूट (Chukandar) एक ऐसा मूसला जड़ वाला वनस्पति है जो लगभग पूरे साल पाया जाता है। इसको सलाद, सब्जी और जूस के रुप में सेवन करते हैं। चुकंदर न सिर्फ सौन्दर्य दृष्टि से फायदेमंद है बल्कि ये स्वास्थ्यवर्द्धक भी है। चुकंदर देखने में छोटा होता है लेकिन चुकंदर के फायदे  (chukandar ke fayde) अनगिनत होते हैं। चलिये इस रंगीन वनस्पति के बारे में विस्तार से जानते हैं-

चुकंदर क्या है (What is Beetroot?)

बीट रूट (chukandar ke fayde) 30-90 सेमी ऊँचा, मांसल, कंद (bulb), मोटा तना वाला, शाकीय पौधा होता है। इसके पत्ते मूली या शलगम के पत्ते जैसे होते हैं। चुकंदर के फूल 2-3 के गुच्छों में या एकल, लम्बे बेलनाकार स्पाइक जैसे होते हैं। इसकी जड़ बैंगनी लाल रंग की होती है। चुकंदर सितम्बर से फरवरी महीने में फलता-फूलता है।चुकन्दर जठर और आंतों को साफ रखने में बहुत ही उपयोगी है। चुकन्दर खून को बढ़ाने , बलवर्धक(शरीर मे ताकत देने वाला), तथा कमजोरी को दूर करने वाला है। इसके नियमित सेवन करने से शरीर का फीकापन दूर हो जाता है। शरीर लाल बनता है एवं शरीर में एक विशेष प्रकार की शक्ति और चेतना उत्पन्न होती है। इसके अतिरिक्त चुकन्दर जोड़ों के दर्द को दूर करता है तथा दूध पिलाने वाली स्त्रियों के स्तनों में दूध को बढ़ाता है । यह यकृत (जिगर) को शक्ति देता है और दिमाग को तरोताजा रखता है।

इसकी जड़ मीठी और ठंडे तासीर की होती है। चुकंदर की जड़ कफ निकालने वाली, कमजोरी दूर करने वाली, हिमोग्लोबीन की संख्या बढ़ाने वाली होती है। इसके पत्ते के सेवन से मूत्र संबंधी परेशानी, कब्ज , सूजन, सिरदर्द, लकवा तथा कानदर्द से राहत (beetroot benefits in hindi) मिलती है। इसके बीज सेक्स की इच्छा बढ़ाने में मदद करते हैं।

अनेक भाषाओं में चुकंदर के नाम (Beetroot Called in Different Languages)

  • हिंदी :– चुकंदर , चुंदर, पालक, रक्तगृञ्जन;

  • संस्कृत नाम :– रक्तगृंजनम्, पालंकी;

  • English :– Beet root (बीट रूट ) गार्डेन बीट (Garden beet), रेड बीट (Red beet), व्हाईट शुगर बीट (White sugar beet), फोलिजवीट (Foliagebeet), लीफ बीट (Leaf beet), स्पाईनेच बीट (Spinach beet);

  • Scientific Names :– बीटा वल्गेरिस (Beta vulgaris )

  • Urdu – चकुन्दर (Chakunder);

  • Kannada – सेनसीरा (Sensira), नेयसीसा (neysisa);

  • Tamil – सेनसीरई (Sensirayi);

  • Bengali –बिटपलङ्ग (Bitpalang), पालक (Palak);

  • Nepali – शखरकन्द (Shakharkand);

  • Marathi – बिपफ्रैट (Bipfruit)

  • Arbi – सलाख (Salaq), सिलीख (Silikh);

  • Persian –चकुंदर (Chakundar)।

 

चुकंदर  के द्रव्यगुण

  • रस (taste on tongue):- मधुर

  • गुण (Pharmacological Action): - गुरु

  • वीर्य (Potency): - शीत

  • विपाक (transformed state after digestion):- मधुर

चुकंदर के गुण : Properties of Beetroot

बीट रूट में पाये जाने वाले पौष्टिक तत्वों के कारण सेहत को अनगिनत फायदे मिलते हैं, क्योंकि एक रिचर्स के अनुसार इसमें विटामिन सी , बी -1, बी -2 , बी-6 और बी -12 पाया जाता है। इसकी पत्तियाँ विटामिन – ए का भी बहुत ही अच्छा स्त्रोत है साथ ही चुकंदर आयरन का भी एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है।

चुकंदर से विभिन्न रोगों का सफल उपचार : Beetroot  benefits and Uses (labh) in Hindi

1-- बालों की रूसी भगाए  :-  चुकंदर के काढ़े में थोड़ा सा सिरका मिला कर सिर में लगाएं या सिर पर चुकंदर के पानी में अदरक के टुकड़ों को भिगो कर रात में मसाज करें।सुबह बालों को धो लें। चुकन्दर के तने के काढ़े से सिर को धोने से सिर की रूसी तथा जुएं दूर (chukandar ke fayde in hindi) होती हैं।

2- मासिक धर्म में लाभकारी  :-  मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को कमर व पेडू दर्द और अन्य शारीरिक दुर्बलताओं जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।चुकंदर के नियमित इस्तेमाल से मासिक धर्म के दौरान होने ली तकलीफ नहीं होती है।माहवारी, फोड़े, जलन और मुहासों के लिए भी यह काफी उपयोगी है।खसरा और बुखार में भी त्वचा साफ करने में इस का इस्तेमाल किया जा सकता है।

3- गर्भावस्था में चुकंदर के फायदे (Beetroot Beneficial During Pregnancy in Hindi) :-  चुकंदर का सेवन गर्भावस्था में लाभदायक होता है। एक रिचर्स के अनुसार ये बच्चों में होने वाले बर्थ डिफेक्ट की सम्भावनाओं को भी कम करता है, क्योंकि इसमें फोलिक एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

4- चुकंदर खाएं ब्लडप्रेशर भगाएं  :-  ब्लडप्रेशर के रोगियों को चुकंदर जरूर खिलाएं।चुकंदर और इस के पत्ते फोलेट का एक अच्छा जरीया है, जो उच्च रक्तचाप और अल्जाइमर की समस्या को दूर करने में मदद करते हैं।रोज चुकंदर में गाजर और सेब मिला कर उस का जूस पीने से हाईब्लड प्रेशर में कमी आती है।एक अध्ययन के मुताबिक रोजाना 2 कप चुकंदर का जूस पीने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। हालांकि इस का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए।इस के ज्यादा सेवन करने से चक्कर आना या वोकल कार्ड पैरालिसिस का खतरा बढ़ जाता है।

5- हाइपरटेंशन  :-  चुकंदर का जूस हाइपरटेंशन और हृदय संबंधी समस्याओं को दूर करता है।इस के नियमित सेवन से चिड़चिड़ापन दूर हो जाता है।खास कर यह महिलाओं के लिए काफी लाभकारी है।

6- उल्टीदस्त  :-  यदि उल्टीदस्त की शिकायत हो तो चुकंदर के रस में चुटकीभर नमक मिलाना फायदेमंद रहता है।इस से पेट में बनने वाली गैस खत्म हो जाती है।उल्टी बंद होने के साथ ही दस्त भी बंद हो जाते हैं।

7- पीलिया में लाभकारी  :-  चुकंदर के जूस के फायदे-चुकंदर पीलिया के रोगियों के लिए भी फायदेमंद है।पीलिया के रोगियों को चुकंदर का रस दिन में 4 बार देना चाहिए।ध्यान रखें कि एक बार 1 कप से ज्यादा जूस न दें।

8- पाचन में सहायक  :-  बच्चों और युवाओं को चुकंदर चबाचबा कर खाना चाहिए।इस से दांत और मसूढ़े मजबूत होते हैं।यह पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने में भी लाभकारी है।इस का नियमित सेवन करने से अपाच्य की – समस्या खत्म हो जाती है।बढ़ती उम्र के बच्चों को चुकंदर जरूर खिलाना चाहिए, इस से उनका शारीरिक सौष्ठव बेहतर होता है और बच्चों के चेहरे पर चमक दिखती है।

9- एनीमिया दूर करे चुकंदर  :-  एनीमिया रोग के लिए चुकंदर रामबाण माना जाता है।चुकंदर में उचित मात्रा में आयरन, विटामिन और मिनिरल्स होते हैं, जो रक्त बढ़ाने और उस के शोधन का काम करते हैं।यही कारण है कि महिलाओं को इस के नियमित सेवन की सलाह दी जाती है।

10- गुर्दो के लिए लाभकारी  :-  चुकंदर में गुर्दे को स्वस्थ और साफ रखने के गुण मौजूद हैं।किडनी रोगियों को चुकंदर का रस देना लाभकारी है।इस में मौजूद क्लोरीन लीवर और किडनी को साफ रखने में मदद करता है।

11- पित्ताशय के लिए गुणकारी  :-  शोध में पाया गया है कि यह किडनी के साथ ही पित्ताशय के लिए भी कारगर है।इस में मौजूद पोटेशियम शरीर को रोजाना पोषण देने में मदद करता है, वहीं क्लोरीन लीवर और किडनी को साफ करने में मदद करता है।

12- दर्द और सूजन से दिलाये राहत चुकंदर (Beetroot Benefits in Pain and Inflammation in Hindi) :-  चुकन्दर के तेल की मालिश करने से दर्द से आराम मिलता है। चुकन्दर के पत्तों के रस में शहद मिलाकर सूजन पर लगाने से जल्द राहत मिलती है।

13- त्वचा के लिए चुकंदर के फायदे (Beetroot Beneficial for Skin in Hindi) :-  चुकंदर के रस का प्रयोग त्वचा के लिए फ़ायदेमंद होता है, ये त्वचा  के सूजन को जल्दी ठीक करने में मदद करता है।

14- हड्डियां करे मजबूत चुकंदर का सेवन ( Benefit of Beetroot for Strong Bones in Hindi) :-  चुंकदर का सेवन हड्डियों को मजबूती प्रदान करने में सहायक होता है, क्योंकि इसमें कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो कि हड्डियों की मजबूती प्रदान करने में मदद करता है।

15- वजन घटाने में चुकंदर के फायदे (Beetroot Beneficial in Weight Loss in Hindi) :-  चुकंदर का सेवन वजन को नियंत्रित करने में सहायक हो सकता है, क्योंकि इसमें लैक्सटिव का गुण देखा गया है जो कि शरीर के गंदगी बाहर निकाल कर वजन कम करने में मदद करता है।

16- लीवर को स्वस्थ रखने में चुकंदर के फायदे (Benefit of Beetroot for Healthy Liver in Hindi) :-  लीवर को स्वस्थ रखने में चुकंदर का प्रयोग फायदेमंद होता है। चुकंदर के जूस का सेवन लिवर पर फैट जमा नहीं होने देता और लीवर भी नियमित रूप से अच्छा कार्य करता है।

17- ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में चुकंदर के फायदे (Beetroot Beneficial to Boost Energy in Hindi) :-  चुकंदर का प्रयोग शरीर को जल्दी ऊर्जा पहुंचाने के लिए भी एक अच्छा स्रोत होता है, क्योंकि इसमें कार्बोइड्रेट की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जो कि तुरंत ऊर्जा देने का काम करती है।

18- पाचन में सुधार के लिए चुकंदर खाने के फायदे (Beetroot Beneficial for Better Digestion in Hindi) :-  चुकंदर का सेवन पाचन शक्ति को अच्छा रखने में सहायक होता है, क्योंकि ये लीवर को मजबूती प्रदान कर खाने को पचाने में सहयोग करता है।

19- कोलेस्ट्रॉल को कम करने में चुकंदर के फायदे (Beetroot Beneficial to Control Cholesterol in Hindi) :-  कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित करने में चुकंदर को जूस एक अच्छा साधन है ये बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है और गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है।

20- रक्तचाप को कम करने में चुकंदर के फायदे (Chukander Beneficial to Control Blood Pressure in Hindi) :-  चुकंदर का प्रयोग रक्तचाप को नियंत्रित करने में मददगार होता है। रिसर्च के अनुसार चुकंदर का जूस पीने से रक्तचाप को नियंत्रित करने में सहायता मिलती है।

21- हृदय को स्वस्थ रखने में चुकंदर के फायदे (Benefit of Beetroot for Healthy Heart in Hindi) :-  चुकंदर का सेवन करना आपको हृदय संबंधी समस्या से बचा सकता है, क्योंकि चुकंदर में पाये जाने वाले विटामिन्स और मिनरल्स ह्रदय को नियमित रूप से कार्य करने में सहायक होते है।

22- कैंसर को रोकने में चुकंदर खाने के फायदे (Benefit of Chukander to Treat Cancer in Hindi) :-  चुकंदर का सेवन सेवन कैंसर से बचाने में सहायक होता है, क्योंकि इसमें पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट कैंसर से बचाव में सहायक होते है।

23- झांईयां हटायें चुकन्दर (Chukander Benefits in Pigmentation in Hindi) :-  अगर धूप में ज्यादा देर रहने के कारण या प्रदूषण के कारण चेहरे पर झाइंया पड़ने लगी हैं तो चुकन्दर के पत्ते के रस में शहद मिलाकर चेहरे पर लगाने से दाग धब्बे या झांईयां मिटती है।

24- अर्श या बवासीर में चुकन्दर के फायदे (Chukandar Beneficial in Piles in Hindi) :-  चुकन्दर के जड़ के चूर्ण को घी के साथ 21 दिनों तक सेवन (chukandar khane ke fayde) करने से बवासीर में लाभ होता है। इसके अलावा चुकन्दर का काढ़ा (chukandar ka juice) बनाकर 10-30 मिली काढ़ा को सुबह भोजन के 1 घंटा पहले तथा रात में सोते समय पीने से कब्ज तथा रक्तार्श (खूनी बवासीर)  में लाभ होता है।

25- कान दर्द में चुकन्दर के फायदे (Benefit of Beetroot to Get Relief from Ear Pain in Hindi) :-  अक्सर ठंड लग जाने पर या किसी दूसरे बीमारी के लक्षण के प्रभाव के कारण कान में दर्द होता है।  चुकंदर के पत्ते के रस को गुनगुना करके 2-2 बूंद कान में डालने से कान की सूजन तथा दर्द में लाभ होता है। कान दर्द में चुकंदर खाने के फायदे से लाभ मिलता है।

26- आँख आने में दर्द से दिलाये राहत चुकंदर ( Beetroot to Treat Conjunctivitis in Hindi) :-  यह तो सही को पता है कि आँख आने पर कितना दर्द होता है। तब  चुकन्दर के कन्द के रस को कनपटी पर लगाने  से नेत्राभिष्यंद या आँख आने पर उसके कष्ट से आराम (chukandar ke fayde) मिलता है।

27- मुख के छाले/ दांत के दर्द में चुकन्दर के फायदे (Benefits of Beetroot in Mouth ulcer and Tooth ache in Hindi) :-  यह तो पहले की बताया गया है कि चुकंदर बहुत सारे बीमारियों से राहत दिलाने में फायदेमंद (chukandar khane ke fayde)है। चुकन्दर के पत्तों का काढ़ा (chukandar ka juice)बनाकर गरारा करने से दांतों का दर्द तथा मुंह के छाले मिटते हैं। चुकंदर खाने के फायदे का लाभ इस तरह से मिलता है।

28- गंजेपन में चुकंदर के फायदे (Beetroot benefits in Hair loss or Baldness in Hindi) :-  चुकन्दर के पत्ते के रस को कुछ दिनों तक लगातार सिर में लगाने से सिर का गंजापन कम होता है या चुकन्दर पत्ते में हल्दी मिलाकर पीसकर सिर में लगाने से भी बालों का झड़ना (beetroot benefits for hair) कम होता है। होता है।

चुकंदर का उपयोगी भाग (Useful Parts of Beetroot)

आयुर्वेद में चुकंदर के कंद,पत्ता और बीज का औषधि के रुप में ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है।

चुकंदर के सेवन की मात्रा (How Much to Consume Beetroot?)

बीमारी के लिए चुकंदर के सेवन और इस्तेमाल का तरीका पहले ही बताया गया है। अगर आप किसी ख़ास बीमारी के इलाज के लिए बीटरूट का उपयोग कर रहे हैं तो आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह ज़रूर लें।

 चिकित्सक के परामर्शानुसार-

-1-2 ग्राम बीज चूर्ण

-10-30 मिली काढ़े का सेवन कर सकते हैं।

चुकंदर के नुकसान :Side Effects of Beetroot

उचित औषधिय मात्रा में प्रयोग करने से शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। अति मात्रा में सेवन करने से रक्त में कैल्शियम की कमी हो जाती है तथा वृक्क (किडनी) में परेशानी होती हैं। मधुमेह के रोगी का लेना हानिकारक होता है। इसका अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से पेट में मरोड़ जैसा अनुभव होने लगता है।

चुकंदर कहाँ पे पाया या उगाया जाता है (Where is Beetroot Found or Grown?)

चुकन्दर का प्रयोग सभी जगह शाक तथा सलाद के रूप में किया जाता है। इसकी भारत के विभिन्न भागों में खेती की जाती है।

ध्यान दें :- Dcgyan.com के इस लेख (आर्टिकल) में आपको चुकन्दर के फायदे, प्रयोग, खुराक और नुकसान के विषय में जानकारी दी गई है,यह केवल जानकारी मात्र है | किसी व्यक्ति विशेष के उपयोग करने से पहले चिकित्सक से परामर्श करना आवश्यक है |