मोटापा घटाने के लिए, बाबा रामदेव जी की यह टिप्स बड़े काम की है

आज की लाइफस्टाइल में मोटापा (Obesity) एक सबसे बड़ी बीमारी के तौर पर सामने आया है। लोग वजन घटाने के लिए नियमित रूप से डाइट, एक्सरसाइज, योगा कर रहे हैं।  मोटापा कम करने के लिए एक्सरसाइज, वैट लॉस (Weight loss) की दवाएं और डाइटिंग (Dieting) करना सबसे फेमस रास्ता है। लेकिन कई बार इनमें काफी वक्त लगता है।  इसलिए लोग ऐसा कोई उपाय खोजते हैं जिससे वजन जल्दी कम हो जाए। योगगुरु रामदेव (Swami Ramdev) ने कई ऐसे योग और टिप्स बताए हैं जिससे आप आसानी से नेचुरल तरीके से अपना वजन कर सकते हैं।

मोटापा घटाने के लिए, बाबा रामदेव जी की यह टिप्स बड़े काम की है
Baba Ramdev Tips For Weight Loss

मोटापा घटाने के लिए, बाबा रामदेव जी की यह टिप्स बड़े काम की है

Baba Ramdev Tips For Weight Loss:

 योग गुरु बाबा रामदेव जी  तेजी से वजन घटाने के लिए कई चीजों की सलाह देते हैं। अपने कई कार्यक्रमों और अपनी वेबसाइट पर स्वामी रामदेव ने मोटापा घटाने के लिए कुछ योगासनों और आयुर्वेदिक दवाओं को लेने की सलाह दी है जिसे हम सरल तरीके से आपके लिए प्रस्तुत कर रहे हैं।

कपालभाति प्राणायाम

जो लोग मोटापे से परेशान हैं उन्हें रेग्युलर सुबह शाम 30-30 मिनट कपालभाति प्राणायाम करना चाहिए। इससे पेट और बॉडी की मसल्स ट्यून होती हैं। मोटापा घटता है।

कैसे करें कपालभाति प्राणायाम :

  • रीढ़ की हड्डी को सीधे रखते हुए और पैरों को सामने की ओर मोड़कर बैठें।

  • लंबी सांस लें फिर जोर से सांस छोड़ें।

  • सांस खींचने में ज्यादा जोर न लगाएं। सांस जोर से छोड़ने पर ध्यान दें।

  • यह क्रिया करते समय सांस धौंकनी के समान चलनी चाहिए और पेट फूलना और सिकुड़ना चाहिए।

  • शुरू में इसे 15-20 बार करें। ब्रेक लेकर धीरे-धीरे फ्रीक्वेंसी बढ़ाएं।

हस्तपादासन

5 मिनट हस्तपादासन करें। फिर सीधे लेटकर एक-एक पैर को ऊपर-नीचे, गोल घुमाएं, साइकिल की तरह पैर चलाएं। इससे बॉडी का एक्स्ट्रा फैट बर्न होगा। बॉडी शेप में आएगी।

कैसे करें हस्तपादासन :

  • एक समतल स्थान पर दरी या चटाई बिछाएं और शोल्डर और बैकबोन को सीधा रखते हुए सावधान की पोजिशन में खड़े हो जाएं।

  • दोनों हाथों को धीरे-धीरे ऊपर उठाकर शोल्डर की सीध में लाएं। फिर शोल्डर्स को थोड़ा-थोड़ा आगे की ओर प्रेस करते हुए हाथों को सिर के ऊपर तक उठाएं। ध्यान रहें कि कंधे कानों से सटे हुए हों।

  • जब बांहें एक-दूसरे के समानान्तर ऊपर उठ जाएं, तब धीरे-धीरे कमर को सीधा रखकर सांस भीतर खींचते हुए नीचे की ओर झुकें। झुकते समय भी ध्यान रखे कि कंधे कानों से सटे रहें।

  • घुटने सीधे रखते हुए हाथ की दोनों हथेलियों से पैरों के पंजे छूने और माथे को घुटने से छूने की कोशिश करें। अपनी कम्फर्ट के हिसाब से कुछ सेकंड तक इस पोजिशन को बनाए रखें।

  • धीरे-धीरे इस पोजिशन से ऊपर उठें, वापस खड़ी पोजिशन में आकर हाथों को कमर से सटाएं और रिलैक्स करें। कुछ सैकेण्ड्स तक रिलैक्स करने के बाद फिर से इसे दोहराएं। ऐसा 5 से 7 बार करें।

उज्जायी प्राणायाम

थाइरॉइड के कारण मोटापा है तो कपालभाति प्राणायाम के साथ 7 से 11 बार उज्जायी प्राणायाम करें। इससे थाइरॉयड कंट्रोल होगा। मोटापे की प्रॉब्लम दूर होगी।

कैसे करें उज्जयी प्राणायाम-

  • आराम से बैठ जाएं। गले को टाइट करके आवाज करते हुए नाक से सांस अंदर खींचें।

  • इस बात का ध्यान रखें कि सांस नाक से ही लें और मुंह बंद रखें।

  • गले की मांसपेशियों को सिकोड़कर रखें।

  • गले से घरघराहट की आवाज करते हुए सांस नाक के जरिए बाहर छोड़ें।

  • शुरुआत में 2- 3 मिनट तक ही करे फिर धीरे-धीरे 10 मिनट तक लेकर जाये।

  • सांस लेने और छोड़ने का समय एक बराबर होना चाहिये।

(ध्यान रहे, कोई भी योगाभ्यास किसी एक्सपर्ट की देखरेख और परामर्श के बिना न करें)

सूर्य नमस्कार

रेग्युलर जॉगिंग और सूर्य नमस्कार करें। इससे पेट के आसपास की चर्बी तेजी से कम होगी।

रनिंग

अगर आप यंग है तो रनिंग और स्विमिंग करें या तेज चाल से वॉक करें। इससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होगा। बॉडी में जमा एक्स्ट्रा फैट बर्न होगा।

एक्यूप्रेशर

अंगूठे के नीचे हथेली पर 2-2 मिनट दबाएं। इससे मोटापे के साथ ही थाइरॉयड की प्रॉब्लम में फायदा होगा।

वैधकीय सलाह

  • 2-2 गोली मेदोहर वटी और 1-1 गोली त्रिफला गुग्गुल सुबह-शाम खाएं।

  • शरीर में सूजन या वाटर रिटेंशन (पानी जमा) होने के कारण मोटापे की प्रॉब्लम है तो पुनर्नवादि मंडूर का सेवन करें।

  • अश्वगंधा के 3-3 पत्ते सुबह दोपहर और शाम को हाथ से मसलकर और चबाकर खाएं।

  • सुबह-शाम खाली पेट 3 से 5 चम्मच गोमूत्र का अर्क गर्म पानी मिलाकर पिएं।

  • रोज़ सुबह लौकी का जूस पिएं। ध्यान रखें लौकी कड़वी न हो।

क्या खाएं, क्या खाएं

कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम लें, हरी सब्जियां खाएं, अंकुरित अनाज और प्रोटीन युक्त डाइट लें। फैट और मीठे से बचें, जब भी प्यास लगे तो गर्म पानी पिएं।