ये 15 बातें भोजन करते वक़्त ध्यान रखनी चाहिए

भोजन चबा कर खाने से पेट में रसायन का स्राव होता है, जिससे खाना अच्छी तरह से हजम हो जाता है। जल्दी-जल्दी भूख भी नहीं लगती और वजन भी नियंत्रण में रहता है।

ये 15 बातें भोजन करते वक़्त ध्यान रखनी चाहिए
15 Tips About Eating Food in Hindi

ये 15 बातें भोजन करते वक़्त ध्यान रखनी चाहिए |

Tips About Eating Food in Hindi |  यदि कुछ बातों का ध्यान खाना खाते समय रखा जाए तो स्वास्थ्य लाभ के साथ ही देवी-देवताओं की कृपा भी प्राप्त की जा सकती है। यहां जानिए कुछ ऐसी बातें जो खाना खाते समय ध्यान रखनी चाहिए। इन मान्यताओं का ध्यान रखने पर बुरे समय से भी छुटकारा मिल सकता है।

भोजन करते वक़्त ध्यान रखनी चाहिए ये बातें | Tips About Eating Food in Hindi

1. पूर्व और उत्तर दिशा की ओर मुंह करके भोजन करना चाहिए। इस उपाय से हमारे शरीर को भोजन से अधिक ऊर्जा प्राप्त होती है। दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके भोजन करना अशुभ माना गया है। पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके भोजन करने से रोगों की वृद्धि होती है। इसीलिए दक्षिण और पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके खाना नहीं खाना चाहिए।

2. खाना खाने से पहले पांच अंगों (दोनों हाथ, दोनों पैर और मुंह) को अच्छी तरह से धो लेना चाहिए। मान्यता है कि भीगे हुए पैरों के साथ भोजन करना बहुत शुभ होता है। इससे स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त होते हैं और उम्र बढ़ती है।

3. कभी भी बिस्तर पर बैठकर भोजन नहीं करना चाहिए।

4. खाने की थाली को हाथ में लेकर भोजन नहीं करना चाहिए।

5. भोजन खड़े होकर नहीं, बल्कि बैठकर ही करना चाहिए।

6. थाली को किसी बाजोट या लकड़ी की पाटे पर रखकर भोजन करना चाहिए।

7. खाने के बर्तन साफ होने चाहिए।

8. टूटे-फूटे बर्तन में भोजन नहीं करना चाहिए।

9. व्यक्ति को स्नान करके और पूरी तरह से पवित्र होकर ही खाना बनाना चाहिए।

10. खाना बनाते समय मन शांत रखना चाहिए। साथ ही, इस दौरान किसी की बुराई भी ना करें।

11. शुद्ध मन से भोजन बनाएंगे तो खाना स्वादिष्ट बनेगा और अन्न की कमी भी नहीं होगी।

12. भोजन बनाना शुरू करने से पहले इष्टदेव का ध्यान करना चाहिए। किसी देवी-देवता के मंत्र का जाप भी किया जा सकता है।

13. भोजन करने से पहले अन्न देवता, अन्नपूर्णा माता का स्मरण करना चाहिए।

14. देवी-देवताओं को भोजन के लिए धन्यवाद देते हुए खाना खाएं। साथ ही, भगवान से ये प्रार्थना भी करें कि सभी भूखों को भोजन प्राप्त हो जाए।

15. कभी भी परोसे हुए खाने की बुराई नहीं करना चाहिए। इससे अन्न का अपमान होता है।